Ichigo Ichie book summary

Positive Effect of Ichigo Ichie:

जीवन बहुत ही क़ीमती है।इस जीवन में घटने वाली हर घटनायें सिर्फ़ एक बार ही घटती है।इस लिए ज़िंदगी का हर एक पल बहुत ही क़ीमती है। हम सभी क्या करते है, भूत काल की बुरी यादों और भविष्य काल की आने वाली समस्याओं के चक्कर में फँस कर वर्तमान के अविस्मरणीय पलों को बर्बाद करते रहते है।अभी इस वक्त हम जिस क्षण का अनुभव ले रहे हैं वह हमें दोबारा कभी भी अनुभव करने को नहीं मिलेगा, इसलिए हमें इस पल को किसी खजाने की तरह असाधारण महत्व देना चाहिए।

इस बात को जापानी लोग बहुत अच्छे से समझते हैं और अपनी जीवन शैली को भी इसी के हिसाब से ढाल लिया है।इस बात को हेक्टर गार्सिया और फ़्रांसिस मिरेलस ने काफ़ी क़रीब से समझा भी और जीया भी।अपने इसी अनुभव को हेक्टर गार्सिया और फ़्रांसिस मिरेलस ने हम सब के सामने एक किताब के रूप में प्रस्तुत किया, जिसका नाम है Ichigo Ichie – हर पल को अविस्मरणीय बनाने का जापानी तरीक़ा।जापान के कल्चर की इस खूबी को आप Ichigo Ichie के  इस book summary में अच्छे से समझने वाले हैं।

Ichigo Ichie book se kya seekate hai:

दोस्तों, Ichigo Ichie book summary प्रारंभ करें इससे पहले कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं का उल्लेख करते हैं जिससे आप को पता चल सके कि अगर आप इस बुक को कभी पढ़ते हैं तो आप को क्या-क्या बातें सीखने को मिल सकती है –

  • इस बुक को पढ़ने से अब आप  जान जाएंगे कि भूतकाल भविष्य काल से मुक्त होकर वर्तमान के हर पल को अविस्मरणीय और अद्वितीय कैसे बनाया जा सकता है।
  • साथ ही झेन तत्वज्ञान को अपने जीवन में कैसे शामिल कर सकते हैं, जिसने स्टीव जॉब्स के जीवन को काफी हद तक प्रभावित किया।
  • जो बातें आपको संजोग जैसी लगती है उनके पीछे का संकेत कैसे खोजें?
  • सजगता में छुपी कमियों को कैसे समझें?
  • अपने निजी और व्यवसाई जीवन में Ichigo Ichie के पल का निर्माण कैसे करें?

ये कुछ पॉइंट है दोस्तों जिनके बारे में विस्तृत जानकारी आपको इस बुक के अंदर मिलने वाली है।

Ichigo Ichie बुक के बारे में संक्षिप में जानकारी

Ichigo Ichie एक जापानी शब्द है, जिसका शाब्दिक अर्थ है, अभी इस वक्त हम जिस क्षण का अनुभव ले रहे हैं वह दोबारा कभी भी अनुभव करने को नहीं मिलेगा, इसलिए हमें इस पल को किसी खजाने की तरह असाधारण महत्व देना चाहिए। हम भविष्य के पीछे भागते – भागते वर्तमान के अनमोल पलों को गवाँ देते हैं।भविष्य के पीछे भागना छोड़ कर के हमें इस पल को बहुत ही महत्व देना चाहिए और इस पल का भरपूर आनंद लेना चाहिए।इसी चीज को और बेहतरीन तरीके से समझने के लिए शुरुआत में ही एक दंतकथा का जिक्र किया गया है – जिसमें बताया गया है कि एक शिकारी एक हिरण का पीछा करते-करते गांव से काफी दूर निकल गया और एक ऐसे पहाड़ के पास पहुंच गया जहां पहाड़ दो हिस्सों में बँटा हुआ था।पहाड़ों के दूसरी तरफ देखने पर उसे काफी मनमोहक दृश्य दिखाई दिए, ऐसा दृश्य आज से पहले उसने कभी नहीं देखा था। शिकारी को बहुत ही आश्चर्य हो रहा था, उसे लगा यह तो किसी स्वर्ग से कम नहीं है?

तभी एक बुजुर्ग आकर पूछते हैं क्या तुम यहां रहना चाहते हो?

शिकारी यह सुनकर बहुत ही खुश हुआ उसने बोला मैं यहां पर जरूर रहना चाहूंगा लेकिन पहले मैं यह खुशखबरी अपने परिवार, मित्र और रिश्तेदारों को बताना चाहता हूं। उन्होंने भी आज तक ऐसी जगह नहीं देखी होगी, मैं तुरंत उन्हें भी अपने साथ ले कर आता हूं।

बुजुर्ग ने कहा, जैसी आपकी इच्छा, लेकिन एक बात बताना चाहता हूं शंभाला के दरवाजे जीवन में एक बार ही खुलते हैं ।

शिकारी ने कहा, आप चिंता ना करें। मैं तुरंत लौट कर आता हूं।

जब तक शिकारी सभी को लेकर वापस लौटा, तब तक शंभाला का दरवाजा हमेशा के लिए बंद हो चुका था।

Ichigo Ichie किताब के इस कहानी से यही शिक्षा मिलती है कि हमारा जीवन भी वर्तमान पलों में ऐसे ही मौके देता है अगर हमने इन मौक़ों का लाभ नहीं लिया, तो हम यह मौके हमेशा के लिए गँवा देते हैं। आपके जीवन में आने वाला कोई भी पल दोहराया नहीं जा सकता, फिर भी हम रोजमर्रा के जीवन की चिंताओं और समस्याओं में इतने उलझे होते हैं कि सभी महत्वपूर्ण बात बड़ी ही सरलता से और सहजता से भूल जाते हैं। 

जीवन को भरपूर कैसे जीये:

हमारा जीवन कब खत्म होगा यह हम नहीं जानते। क्या पता कौन सा दिन हमारे जीवन का आखरी दिन हो! मौत का आना असली समस्या नहीं है, असली समस्या यह है कि मौत के आने तक जीवन की शुरुआत ही नहीं करना। हर इंसान को, अभी जो चल रहा है, वह आखिरी पल है यह सोचकर ही हर पल का आनंद लेना चाहिए। हम सभी एक न एक दिन मरने वाले हैं लेकिन हम एक ही दिन मरने वाले हैं बाकी सभी दिन तो हम जिंदा रहने वाले ही हैं। इसलिए सभी के साथ ऐसे मिले जैसे कि यह मुलाकात आपके जीवन में दोबारा कभी भी नहीं होने वाली है, और जब तक हम इस पृथ्वी पर है, Past और Future के चक्कर में ना पढ़कर वर्तमान के असाधारण और अविस्मरणीय पलों का भरपूर आनंद लें। Ichigo Ichie किताब में जापान में एक हानामी नामक त्यौहार मनाये जाने का ज़िक्र मिलता है। हनामी का शाब्दिक अर्थ है फूलों को देखना। नए जीवन की शुरुआत और उम्मीद से भरा यह त्यौहार काफी पुराना है।यह इतना पुराना त्यौहार है कि हनामी का जिक्र थर्ड सेंचुरी एडी में भी पाया जाता है उस वक्त इस त्यौहार को योझाकुरा  यानी रात के समय फूलों को देखने का समारोह,  इसे ही नाइट चेरी ब्लॉसम भी कहते हैं। चेरी ब्लॉसम समारोह की शुरुआत काईका शब्द से होती है जिसका अर्थ है पहली कली। Ichigo Ichie में  काईका और मनकाई के बारे में भी बताया गया है।काईका जैसा कि मैंने अभी बताया पहली कली  और मनकाई मतलब पूरी बहार।इसी चीज को जीवन से जोड़कर इस  बुक में काईका और मनकाई  के बारे में विस्तार से बताया गया है।

cherry-blossoms (Image Source-Pixabay.com)
Ichigo Ichie Book Summary

जिस पल आपके अंदर कुछ अज्ञात उभरने लगता है, उस पल को काईका पल कहते हैं। इसी काईका पल को मनकाई में परिवर्तित करना पड़ता है। जब हमारे अंदर किसी चीज की निर्मिती या किसी चीज का जन्म होता है, किसी काईका  का जन्म होता है,  तो उसमें कई सारी संभावनाएं छुपी होती हैं।इन्हीं संभावनाओं को ढूंढ कर और उन्हें पूरा करते हुए जिस चीज का निर्माण होता है वो मनकाई यानी बाहर कहलाता है।  

मतलब पहले आपके अंदर एक कली का निर्माण हुआ,  फिर कुछ संभावनाएं कुछ रास्ते दिखे, जिस पर चलते हुए अपने सही मेहनत से आपने उस कलि को यानी काईका को, पूरे बाहर यानि मनकाई में बदल दिया।

काईका और मनकाई तक की प्रक्रिया के लिए 10000 घंटों की संकल्पना का जादुई रहस्य भी इस बुक में बताया गया है।साथ ही यह भी बताया गया है कि किसने इसे रहस्य को कैसे इस्तेमाल किया और आज किस जगह पर है। काईका और मनकाई को कुछ इस तरह से भी समझ सकते हैं, जैसे कि एक बार हमारे दिमाग में जीवन का लक्ष्य पक्का हो गया तो वह है कईका, एक बार लक्ष्य पता होने के बाद जो भी संभावनाएं दिखती है उसे पूरा करने के लिए उस राह पर तब तक चलते रहे जब तक आपको मनकाई की यानी कि बहार की प्राप्ति ना हो।

जो लोग बड़ा और स्वस्थ जीवन जीते हैं, उनमें दो मुख्य बातें होती हैं- एक तो यह कि उनको अपने जीवन का उद्देश्य पता होता है और दूसरा उन्हें इस बात की जानकारी होती है कि हर पल खुश कैसे रहा जाए। ओकिनावा में रहने वाले लोग, जीवन के हर पल को एक महान मौके की तरह जीते हैं और उसका आनंद लेते हैं।यही तो Ichigo Ichie है। 

Ichigo Ichie बुक में ऐसी चार भावनाओं के बारे में बताया गया है, जो इंसान के जीवन पर पूरा प्रभाव डालती हैं। जिसमें है क्रोध, दुख, डर और आनंद।यह सभी भावनाएं किस तरह से भूतकाल, भविष्य काल और वर्तमान से जुड़ी है या फिर कैसे यह वर्तमान को प्रभावित करती हैं, आप इस बुक से अच्छी तरह से समझ सकते हैं ।

Ichigo Ichie में एक short question भी दिया गया है, जिनका उत्तर देकर आप अपने व्यक्तित्व  को जज कर सकते हैं कि आप वर्तमान में कितना जीते हैं।  जो लोग अपने जीवन में ज्यादातर समय वर्तमान से दूर रहते हैं और पास्ट या फ्यूचर  में उलझे रहते हैं उनके लिए यह बुक किसी वरदान से कम नहीं है। हेक्टर गार्सिया के इस बुक Ichigo Ichie में  वर्तमान में जीने के लिए बहुत सारे तरीके बताए गए हैं, इनमें से कुछ उल्लेखनीय तरीकों के बारे में मैं बता रहा हूं। 

झाझेन ध्यान पद्धति:

Ichigo Ichie बुक में झाझेन का जिक्र किया गया है।झाझेन एक ध्यान पद्धति है, जो जापान में काफी मशहूर है। इस बुक में आपको पता चलेगा कि यह ध्यान पद्धति क्या है और इसे  कैसे करना होता है।इस ध्यान पद्धति से हम ऐसी स्थिति में पहुंच जाते हैं जहां ना तो भूतकाल होता है और ना ही भविष्य काल। इससे हमें वर्तमान में रहने के लिए काफी मदद मिलती है। इस बुक में Ichigo Ichie  को प्राप्त करने के लिए  8 झेन सिद्धांतों का वर्णन किया गया है। इन आठ सिद्धांतों को हम अपने रोजमर्रा के जीवन में अमल में ला सकें, तो Ichigo Ichie हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन सकता है।

इसमें भगवान बुद्ध की  दूसरी तीर नाम से एक कथा का जिक्र किया गया है। जिसमें बताया गया है कि पहली तीर लगती है तो उसका क्या मतलब है  और उसी जगह पर दूसरी तीर  लगती है तो उसका क्या मतलब होता है। इस कथा से भी Ichigo Ichie को समझने में काफी मदद मिलती है।

जीवन में जो अस्थिरता बनी रहती है या जो भौतिकवादी चीजों के खोने का डर मन में बना रहता है और इन भौतिकवादी चीजों के प्रति जो मन में स्थिरता बनी रहती है, इन सभी तरह की बातों को “मोनो नो अवेयर”  में काफी विस्तार से उल्लेख किया गया है। 

साथ ही कार्पेडिम  की  मैत्रीपूर्ण संकल्पना, द बटरफ्लाई इफेक्ट, अमोर फाटी और भी चीजों का उल्लेख किया गया है जो इंसान के व्यक्तित्व को निखारने और इंसान को एक स्वस्थ जीवन जीने लायक बनाती है।

जॉर्ज कॉकराफ्ट का एक उपन्यास  द डाइस मैन,  यह एक बहुत ही दिलचस्प बुक है इस  बुक के कुछ अंशों का भी Ichigo Ichie में  जिक्र किया गया है.  इसमें जो हीरो होता है वह अपने काम से उब चुका होता है। वह हमेशा ही लोगों की मदद करने का प्रयास करता था उनको अच्छी सलाह देने की कोशिश करता था फिर भी दुर्भाग्यवश उसके ज्यादातर फैसले गलत साबित होते थे।

एक बार वह अपने आपसे एक सवाल पूछता है अगर मैंने सोच समझकर फैसले लेने के बजाय सभी बातों को संभावनाओं पर और नसीब पर छोड़ दिया होता तो क्या होता। कल्पना को हकीकत में लाने का फैसला किया।वह दो पासे लाया उनके आधार पर निर्णय लेने की कल्पना को साकार किया। हर समस्या के लिए वह पहले से ही कुछ समाधान लिख कर रखता था।  उनमें से कुछ समाधान तो पूर्ण रूप से  अतार्किक होते थे।  इसके बाद वह हर समाधान के हर विकल्प के लिए एक क्रमांक देता था फिर 5 से फेंक कर जो भी क्रमांक आता था उस क्रमांक का निर्णय वह सामने वाले को देता था। इस प्रकार की पद्धति से रिनहार्ट  और उसके पास सलाह लेने आए लोगों को काफी फायदा होने लगा।

अपने जीवन में घटने वाली छोटी मोटी चीजों में तो हम इस तरह के चीज को अपना ही सकते हैं अगर हमें वाकई जीवन का आनंद लेना है तो महीने में कम से कम 1 बार 6 विकल्पों का आनंद लें। और हम कोई भी 6 संभावनाएं सुन सकते हैं और उसके बाद पैसा फेंक कर उनमें से कोई एक विकल्प क्यों सकते हैं जैसे-

१. किताबों की दुकान में जाने के बाद आप कोई भी 6 किताबें चुने जो आपको खरीदनी है उसके बाद हर किताब को 1:00 से 6:00 तक में से कोई एक नंबर दें उसके बाद पासा फेंकें उसके बाद जो भी नंबर है उस नंबर की किताब खरीदें। आप की आज की जरूरत पूरी करने वाली और भविष्य की जो जरूरत है उसके लिए सही संकेत  देने वाली कोई ना कोई बात आपको इस किताब में यकीनन मिलेगी

२. अब कुछ ऐसा भी ट्राई कर सकते हैं जब आपके सामने कोई होटल चुनने का मौका आए तो आप ऐसे 6 होटलों के नाम लिखें जिनमें पहले कभी नहीं गए हैं और फिर उन्हें 1 से 6:00 तक नंबर दें उसके बाद जिस होटल का क्रमांक फांसी पर आए उसी होटल में आप जाएं।

यह तो तो एक दो एग्जांपल थे जो मैंने आपको दिए आप अपने हिसाब से रोजमर्रा की छोटी मोटी चीजों के लिए इसे इस्तेमाल कर सकते हैं. अगर आपको Ichigo Ichie बुक के बारे में और जानकारी चाहिए तो आप इस लिंक पर क्लिक करके  इस बुक का करेंट प्राइस और रिव्यु चेक कर सकते हैं।साथ ही आप दिए गए लिंक के थ्रू बुक को खरीद भी सकते हैं।

FAQ 

१. what is Ichigo Ichie book about? इचिगो इची किताब किस बारे में है ?

ये किताब भूत काल की चिंताओ से और भविष्य काल की आने वाली समस्याओं से निकाल कर वर्तमान में जीने का रास्ता दिखती है।

२.What is the philosophy of Ichigo Ichie? इचिगो इची का दर्शन क्या है?

जीवन में किसी भी क्षण को दोहराया नहीं जा सकता है।एक बार गुज़ारा हुआ पल दोबारा लौट कर नहीं आता।इस लिये वर्तमान में जो पल है, उसे भरपूर जीयो। 

३.What does Ichigo Ichie mean? इचिगो इची का क्या मतलब है?

Ichigo Ichie एक जापानी शब्द है।हालाँकि इस शब्द का सही अर्थ बताने के लिए अंग्रेज़ी भाषा में कोई सटीक शब्द नहीं है, फिर भी इचिगो इची शब्द के अर्थ को हम इस तरह से समझ सकते है “इस पल में छुपा हुआ मौक़ा” इस पल मतलब वर्तमान, वर्तमान पल में ऐसे बहुत सारे मौक़े आते है, जिसकी पहचान कर हम अपने जीवन में परिवर्तन ला सकते हैं, लेकिन ये तभी संभव है, जब हम past या future में ना उलझे हो। 

1 thought on “Ichigo Ichie book summary”

Leave a comment